Fish Seed की Stocking कैसे करें। सावधानियां, और कैसे उठाएं लाभ। 

मछली की stocking के बारे में आप जरूर जानते होंगे। आप सुनते होंगे फ्राई साइज, फिंगरलिंग साइज, stunted Seed
ये सब क्या होता है, इनकी स्टॉकिंग कैसे और कब करनी है। साथ ही इसमें हमें क्या सावधानिया रखनी चाइए।
स्वागत है आपका अपने ब्लॉग PVRAQUA पर आज के इस टॉपिक में हम जानेंगे कि Fish Seed की Stocking कैसे करें। सावधानियां, और कैसे उठाएं लाभ। 
हम उदाहरण से इसे समझेंगे मान लीजिए आपको स्टॉकिंग करनी है, और आपका तालाब 1 एकड़ का है तो उसमें
आप रोहू, कटला मछली का पालन कर रहे हैं तो मान कर चलिए की हम इसमें 4 टन प्रोडक्शन करेंगे।
इसके लिए जब हॅचरी सुरु हो तब उसके पहली ब्रीडिंग का बच्चा ही स्टॉक करें। मछली के अंडे से लरवा बनने में 3 दिन लगते हैं, लारवा से फ्राई साइज बनने में 8दिन का समय लगता है, मतलब की लगभग 1 ग्राम का बच्चा। फ्राई से फिंगर लिंग बनता है तथा फिंगर्लिंग से एयर लिंग बनने में 60 से 90 दिन लगते हैं। और चौथी स्टेज आपकी 6 से 7 महीने की होती है।
 मान लीजिए अगर हमने अप्रैल में स्टॉकिंग की है तो दिसंबर आने तक stunted Seed हो जाएगा, उसके बाद सर्दी के 3  महीने निकल जाने के बाद 6-7 month में मछली लगभग 1 किलो से ऊपर की हो जाएगी। जिसको हम अच्छे रेट पर सेल कर पाएंगे।
अब जैसा कि हमने बताया की हम 100 बच्चो का stunted Seed बना रहे हैं तो 40 हजार बच्चे 1 एकड़ में रख सकते हैं।
इतने बच्चे रखने पर हर स्टेज पर हमें 70% का सर्वाइवल मिलेगा।
अब इसे एक और उदाहरण से समझ सकते हैं। मान लीजिए कि आपने एक एकड़ में 70 हजार फ्राई साइज बच्चे स्टॉक कर लिए। तथा आपको 70% ही सर्वाइवल मिला इस हिसाब से आपके लगभग 50 हजार बच्चे ही जिंदा रहे। मतलब इतने ही बच्चे फ्राई से फिंगरलिग में कन्वर्ट हुए। फिंजरलिंग से एआर्लिंग में आपको 30% survival रेट कम हुआ । अब अगला टारगेट हमारा यह है कि हम बच्चे को stunted Seed में कन्वर्ट करें, मतलब इस कंडीशन में हमारा बच्चा लगभग 100gm का हो जाएगा।
यहां पर आपको एक बात समझनी पड़ेगी कि आपकी मछली की उमर बढ़ी है लेकिन मछली का सरीर डेवलप नहीं हुआ है। अब हमारी fish stunted Seed तक की कंडीशन में पहुंच चुका है। इस स्टेज के आगे जब हमारी मछली तैयार होगी तब लगभग 35 हजार मछली होगी। यानी कि लगभग 3.5 टन मछली सेल करने के लिए तैयार होगी।
नर्सरी मैनेजमेंट
दोस्तो इतना प्रोडक्शन उठाने के लिए आपको नर्सरी मैनेजमेंट बहुत जरूरी है। नर्सरी मैनेजमेंट में आपको तीन बाते बहुत ध्यान रखनी होगी।
Pre Stocking
Stocking
Post Stocking
pre Stocking में हमें अपने पोंड को बहुत fertilize करना होता है। इसके लिए ऑर्गेनिक और इनॉर्गनिक सब्सटेंस
का प्रयोग करना चाहिए। मतलब आपको नेचुरल फीड को तैयार करना होगा।
stocking में हमें टेंप्रेचर का बहुत ध्यान रखना चाहिए। जब बच्चे को हम एक body से दूसरी पोंड में ट्रांसफर करें तब पानी के टेंप्रेचर का ध्यान रखना चाहिए। दोनों पानी के टेंप्रेचर में ज्यदा अंतर ना हो।
पोस्ट स्टॉकिंग में फीड अच्छा खिलाएं, जिससे उसकी ग्रोथ अच्छी होगी।
तो दोस्तो अगर हम इन सब चीजों का ध्यान रख कर स्टॉकिंग करेंगे तो निश्चित ही अच्छा प्रॉफिट उठा पाएंगे। अगर जानकारी पसंद आई हो तो लाइक जरुर करें। इसी जानकारी को वीडियो के रूप में देखने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें। Thank You